स्वयं बने गोपाल

जानिये कैसे सिर्फ प्राकृतिक उपायों से ट्यूबरक्लोसिस (टी बी) का दमन किया जा सकता है

ट्यूबरक्लोसिस (टी बी, Tuberculosis or TB) एक तकलीफदायक बीमारी है, जिसका इलाज आज के मॉडर्न एलोपैथिक साइंस में अब भी थोड़ा अनिश्चित है क्योंकि गिनती की कुछ चंद एलोपैथिक दवाएं हैं (जैसे- आइसोनियाज़िड, रिफाम्पिसिन,...

जिसे हम उल्कापिंड समझ रहें हैं, वह कुछ और भी तो हो सकता है

लम्बे समय से ब्रह्मांड से सम्बंधित सभी पहलुओं पर रिसर्च करने वाले, “स्वयं बनें गोपाल” समूह से जुड़े हुए विद्वान रिसर्चर श्री डॉक्टर सौरभ उपाध्याय (Doctor Saurabh Upadhyay) के निजी विचार ही निम्नलिखित आर्टिकल...

पिता हों तो ऐसे

आईये जानते हैं सबसे पहले कि परम आदरणीय हिन्दू धर्म के अनुसार, पिता कहतें किसे हैं– पिता- ‘पा रक्षणे’ धातु से ‘पिता’ शब्द निष्पन्न होता है अर्थात ‘य: पाति स पिता’ जो रक्षा करता...

ऋषि सत्ता की आत्मकथा (भाग 4): सभी भीषण पापों (जिनके फलस्वरूप पैदा हुई सभी लाइलाज शारीरिक बिमारियों व सामाजिक तकलीफों) का भी बेहद आसान प्रायश्चित व समाधान है यह विशिष्ट ध्यान साधना

अक्सर कई सज्जन व्यक्तियों के मन की अंतर्व्यथा होती है कि उनसे जीवन में जो कुछ भी जाने अनजाने पाप, गलतियाँ आदि हो चुकी हैं, उसका दंड ना जाने, भगवान् अभी या भविष्य में...

ऋषि सत्ता की आत्मकथा (भाग – 3): सज्जन व्यक्ति तो माफ़ कर देंगे किन्तु ईश्वर कदापि नहीं

[ महती ईश्वरीय कृपा से जब जब परम आदरणीय ऋषि सत्ता का अति दुर्लभ सम्पर्क “स्वयं बनें गोपाल” समूह को प्राप्त होता है तब तब कोई ना कोई बेशकीमती ज्ञान हमें अवश्य प्राप्त होता...

Are Scientists telling the complete truth about Bermuda Triangle ?

(This article is English version of previously published article titled – क्या वैज्ञानिक पूरा सच बोल रहें हैं बरमूडा ट्राएंगल के बारे में which was published on 21st Nov 2016 on “Svyam Bane Gopal”...

ऋषि सत्ता की आत्मकथा (भाग – 2): चाक्षुषमति की देवी प्रदत्त ज्ञान

[परम आदरणीय ऋषि सत्ता की अत्यंत दयामयी कृपा है कि “स्वयं बनें गोपाल” समूह को उनसे जुड़े दुर्लभ सत्य वृत्तान्त को पुनः प्रकाशित करने की अनुमति मिली है ! ऋषि सत्ता के बारम्बार हमारे...

Why satellites can not see some meteorites before they fall down

{This article is English version of previously published article titled– क्यों गिरने से पहले कुछ उल्कापिण्डो को सैटेलाईट नहीं देख पाते (link of this article is given below of this English version article) which...

ऋषि सत्ता की आत्मकथा (भाग – 1): पृथ्वी से गोलोक, गोलोक से पुनः पृथ्वी की परम आश्चर्यजनक महायात्रा

[एक दिव्य देहधारी ऋषि सत्ता की परम आश्चर्यजनक पर नितांत गोपनीय आत्मकथा, जिसे विशेष मूहूर्त पर “स्वयं बनें गोपाल” समूह को प्रकाशित करने की विशेष अनुमति प्राप्त हुई है ! वह दिव्य गाथा, उन्ही...

कुछ विशेष योगासन व प्राणायाम से अपनी किडनी को फेल होने से बचाईये

आंकड़ों के अनुसार अकेले भारत में हर 5 मिनट में, 2 मौत सिर्फ किडनी की बीमारी से हो रही है और इन आकड़ों में अधिकता शहरों में रहने वाले ऐसे लोगों की है जो...

बूढ़ा बाप कैंसर से जूझता, माँ अकेली हैरान और बेटे अपनी जिंदगी के सपने पूरे करते

समाज में सर्वत्र तेजी से बढ़ती हुई संवेदनहीन संतानों की संख्या को देखते हुए, “स्वयं बनें गोपाल” समूह इस लेख को लिखने पर मजबूर हो गया ! यहाँ हम बात कर रहें हैं मुख्यतः...

जब नोट बंदी के चमत्कारी असर ने इतने जल्दी खरपतवार की सफाई शुरू कर दी, तो आगे आने वाले कानूनों से तो भ्रष्टाचारियों में तबाही ही मच जायेगी

जब “स्वदेश चेतना” जैसे बड़े मीडिया ग्रुप के प्रमुख सम्पादक श्री डॉक्टर किसलय उपाध्याय जैसे कुछ चन्द निष्पक्ष, निर्भीक व ईमानदार मीडियाकर्मी बार बार खुल कर बोल रहे थे कि पूर्व में हुए दिल्ली,...

ईश्वरीय खोज की अंतहीन गाथा : निराशा भरी उबन से लेकर ख़ुशी के महा विस्फोट तक

कभी कभी बड़े से बड़े भक्तों के मन में भी प्रश्न आता है कि, क्या लगातार ईश्वर को देखने से उबन (बोरियत) नहीं होगी ? और अगर बोरियत होगी तो फिर कोई आदमी क्यों...

क्या एलियन से बातचीत कर पाना संभव है ?

लम्बे समय से ब्रह्मांड से सम्बंधित सभी पहलुओं पर रिसर्च करने वाले, “स्वयं बनें गोपाल” समूह से जुड़े हुए विद्वान रिसर्चर श्री डॉक्टर सौरभ उपाध्याय (Doctor Saurabh Upadhyay) के निजी विचार ही निम्नलिखित आर्टिकल...

जानिये बच्चों के डायपर से हो सकने वाली हानियाँ

दुनिया दिन ब दिन सुविधा भोगी होती जा रही है और इसी सुविधा भोगी मानसिकता की तीव्र उत्कंठा के हजारों उदाहरणों में से एक है अपने नवजात बच्चों के लिए डायपर इस्तेमाल करना !...

विभिन्न कैंसर पैदा करने वाली शराब, बियर, शैम्पेन आदि की लत से कैसे पायें छुटकारा

हर नशा करने वाला जानता है कि नशा करने से एक ना एक दिन उसे कोई घातक रोग लग सकता है पर वो यह सोचकर अपने दिल को झूठी दिलासा देता रहता है कि...