एक्यूप्रेशर से सम्बंधित संक्षिप्त जानकारियाँ

चिकित्सा की अन्य पद्धतियों की तरह एक्युप्रेशर भी इलाज का एक बेहतरीन तरीका होता हैं। अब ये तरीके अपने यहां भी इस्तेमाल में लाए जा रहे हैं। एक्युप्रेशर में एक्यु चीनी भाषा का शब्द...

गायत्री मन्त्र की सत्य चमत्कारी घटनाये – 32 (गायत्री की कृपा से उच्च पद की प्राप्ति)

पं. शंभूप्रसाद मिश्र, हृदयनगर, कहते हैं कि मुझे अनुभव है कि मेरे इष्ट वेदमाता ने मेरे बड़े-बड़े हानि-लाभ के कार्यों में स्वप्नों में ही दिग्दर्शन कराके आने वाली विपत्ति से रक्षा की और शुभ...

गायत्री मन्त्र की सत्य चमत्कारी घटनाये – 31 (गायत्री की कृपा से प्रिंसिपल बना)

पं. लक्ष्मीनथा झा व्याकरण साहित्याचार्य, झॉंसी लिखते हैं कि यह सेवक मिथिल के चौमथ ग्राम वास्तव्य राज ज्योतिषी पंडित प्रकाण्ड श्रीयुक्त कृपालु झा का लक्ष्मीकान्त झा नामक पुत्र है। यह यज्ञोपवीत संस्कार के अनन्तर...

पारस पत्थर का रहस्य

एक दृष्टान्त है कि अति प्राचीन समय में एक बार पूरे सन्सार के बड़े बड़े विद्वानो, ऋषियों, महर्षियो की सभा हुई और इस बैठक का उद्देश्य था की ये जानना की इस संसार में...

जानिये हर योगासन को करने की विधि

प्राणायाम की तरह योग भी बहुत चमत्कारी विधा है जिससे ना सिर्फ सभी रोगों का नाश संभव है, बल्कि विभिन्न रहस्यमय चक्रों और कोशो के जागरण से कुण्डलिनी प्रक्रिया भी सफल होती है जिससे...

गायत्री मन्त्र की सत्य चमत्कारी घटनाये – 30 (परीक्षा में उत्तीर्ण)

श्री बसन्त कुमार गौड़, देहरादून, लिखते हैं कि पिछले वर्ष मेरी अच्छी पढ़ाई नहीं हो पाई थी। तीन बार मास्टर बदले। हर एक ने अपने-अपने ढंग से पढ़ाया। मन भी अच्छी तरह न लगा।...

कहानी – एक जीवी, एक रत्नी, एक सपना (लेखिका – अमृता प्रीतम)

पालक एक आने गठ्ठी, टमाटर छह आने रत्तल और हरी मिर्चें एक आने की ढेरी “पता नहीं तरकारी बेचनेवाली स्त्री का मुख कैसा था कि मुझे लगा पालक के पत्तों की सारी कोमलता, टमाटरों...

एक्युप्रेशर के कुछ विशेष पॉइंट्स

एक्युप्रेशर के कुल 365 पॉइंट्स होते है जिसमे से कुछ काफी असरदार और  कई रोगो में फायदेमंद होते हैं। आइए जानते है इन पॉइंट्स के बारे में – जीवी 20 या डीयू 20 (सिर...

गायत्री मन्त्र की सत्य चमत्कारी घटनाये – 28 (प्रलोभन का पतन)

पं. पूजा मिश्र, ठोरी बाजार, लिखते हैं कि हमारे यहाँ एक बड़े प्रसिद्घ महात्मा हो गए हैं। इनका असली नाम तो मालूम नहीं, पर उनको परमहंस जी कहा जाता था। ये भूमिहार ब्राहम्ण थे।...

कविताये (लेखिका – महादेवी वर्मा)

  जो तुम आ जाते एक बार कितनी करूणा कितने संदेश पथ में बिछ जाते बन पराग गाता प्राणों का तार तार अनुराग भरा उन्माद राग आँसू लेते वे पथ पखार जो तुम आ...

गायत्री मन्त्र की सत्य चमत्कारी घटनाये – 27 (मनोवांछित पति-पत्नी)

श्री कौशल किशोर माहेश्वरी, संभलपुर लिखते हैं कि हमारे बाबा महेश्वरी थे और दादी राबुत थीं। उनका गन्धर्व विवाह हुआ था। उनकी प्रेम गाथा को लिखकर अपने पूजनीय पूर्वजों की शान में कोई धृष्ठता...

विश्व के जागृत हिन्दू मंदिर और तीर्थ स्थल -6

मीनाक्षी सुन्दरेश्वर मन्दिर- मीनाक्षी सुन्दरेश्वर मन्दिर या मीनाक्षी अम्मां मन्दिर या केवल मीनाक्षी मन्दिर भारत के तमिल नाडु राज्य के मदुरई नगर, में स्थित एक ऐतिहासिक मन्दिर है। यह हिन्दू देवता शिव (“‘सुन्दरेश्वरर”’ या...

गायत्री मन्त्र की सत्य चमत्कारी घटनाये – 26 (उच्च शिक्षा की सुविधा)

श्री. रघुराथ प्रसाद बरनवाल, बलहज, लिखते हैं कि अखण्ड ज्योति के लोगों से प्रभावित होकर मैं गायत्री उपासना के मार्ग में बढ़ा। अति अल्प काल के जप में ही अपने में बड़ा अधिक परिवर्तन...

तो क्या ये घर नकली था

श्रीमत् भागवत महापुराण का प्रसंग है की, भगवान दत्तात्रेय ने देखा की एक सुन्दर कपड़ो में सजी हुई एक कुवाँरी लड़की अपने घर से निकल कर कुछ लोगो के साथ एक दूसरे अनजान घर...

कहानी – स्वर्ग के खंडहर में (लेखक – जयशंकर प्रसाद)

वन्य कुसुमों की झालरें सुख शीतल पवन से विकम्पित होकर चारों ओर झूल रही थीं। छोटे-छोटे झरनों की कुल्याएँ कतराती हुई बह रही थीं। लता-वितानों से ढँकी हुई प्राकृतिक गुफाएँ शिल्प-रचना-पूर्ण सुन्दर प्रकोष्ठ बनातीं,...

गायत्री मन्त्र की सत्य चमत्कारी घटनाये – 25 (पुरश्चरण और पाठ कराने से लाभ)

श्री बलवन्त विष्णु नागदे, राजमहेन्द्री कहते हैं कि व्यापारी को फुरसत नहीं मिलती । हमकों बहुत काम रहता है। रात को दो बजे तक अक्सर काम करना पड़ता है। इसलिए सबेरे देर से आँख...