जड़ी बूटियों की मालिश से कमर दर्द का प्रभावी इलाज

113CGpeXTYW93xk4fhZH73I4XXXL4j3HpexhjNOf_P3YmryPKwJ94QGRtDb3Sbc6KYआजकल का एक तो अति प्रदूषित पर्यावरण ऊपर से अस्त व्यस्त उट पटांग जीवन शैली तो आदमी को एक नहीं हजार समस्याएं होनी ही है !

इन्ही समस्याओं में से एक है कमर दर्द , जो सुनने में तो मामूली लगता है पर आदमी को किसी काम के लायक नहीं छोड़ता है !

कमर दर्द से परेशान आदमी चिडचिडा हो जाता है क्योंकि वो जैसे कुछ काम करना शुरू करता है वैसे ही उसको कमर दर्द होना शुरू हो जाता है !

यह अधिकतर उन लोगों में होता है जो अधिक समय तक खड़े होकर, बैठकर, गलत तरीके से बैठकर और लेटकर कार्य करते हैं | अधिक मुलायम गद्दे पर बैठने और सोने से भी कमर दर्द हो जाता है !

कई बार किसी कारण से कमर की मांसपेशियों में खिंचाव उत्पन्न हो जाता है जिसकी वजह से कमर में दर्द होता है |

कमर दर्द के और भी कारण हो सकते हैं जैसे ठण्ड लगने से, पेट की गैस के कुपित होने से अथवा अन्य किसी रोग की वजह से !

उपचार (Herbal ways to Manage Low Back Pain at Home in hindi, ayurvedic jadibooti kamar dard ya peeth dard, waist pain home remedies)-

– आधा लीटर सरसों के तेल में 125 ग्राम लहसुन को कूट कर डालें | फिर उसे लहसुन के जलने तक धीमी आँच पर गर्म करें और ठंडा होने पर छान कर शीशी में भर लें | इस तेल की मालिश से कमर दर्द मिट जाता है |

– सौंठ के चूर्ण को अलसी (तीसी) के तेल में पका लें | इस तेल से कमर की मालिश करने से कमर दर्द में लाभ होता है |

– अजवायन को एक पोटली में बाँध लें | फिर इस पोटली को तवे पर गर्म करें तथा इससे कमर की सिकाई करें तो लाभ होगा |

– ठण्ड के कारण उत्पन्न हुए कमर दर्द में, लगभग 5 ग्राम सौंफ, 10 ग्राम तेजपात और 10 ग्राम अजवायन को एक लीटर पानी में उबालें | जब 100 ग्राम पानी शेष रह जाए तब इसे ठंडा करके पी लें |

– अरण्ड के पत्ते पर एक तरफ सरसों का तेल लगाकर तवे पर हल्का सा सेंक लें | फिर इसे तेल की तरफ से कमर पर बाँध लें | यह प्रयोग रात्रि में सोते समय करना चाहिए | सुबह तक कमर दर्द में बहुत आराम मिलता है |

(आवश्यक सूचना – “स्वयं बनें गोपाल” संस्थान की इस वेबसाइट में प्रकाशित सभी जानकारियों का उद्देश्य, सत्य व लुप्त होते हुए ज्ञान के विभिन्न पहलुओं का जनकल्याण हेतु अधिक से अधिक आम जनमानस में प्रचार व प्रसार करना मात्र है ! अतः “स्वयं बनें गोपाल” संस्थान अपने सभी पाठकों से निवेदन करता है कि इस वेबसाइट में प्रकाशित किसी भी यौगिक, आयुर्वेदिक, एक्यूप्रेशर तथा अन्य किसी भी प्रकार के उपायों व जानकारियों को किसी भी प्रकार से प्रयोग में लाने से पहले किसी योग्य चिकित्सक, योगाचार्य, एक्यूप्रेशर एक्सपर्ट तथा अन्य सम्बन्धित विषयों के एक्सपर्ट्स से परामर्श अवश्य ले लें क्योंकि हर मानव की शारीरिक सरंचना व परिस्थितियां अलग - अलग हो सकतीं हैं)



You may also like...