Category: विशेष लेख

फाड़ कर खा जायेंगे कृष्ण तुम्हारी ओर गन्दी निगाह उठाने वालों को

किसी भी हद तक जा सकते है कृष्ण अपने भक्त की रक्षा करने के लिए ! इतिहास गवाह है की एक नहीं हजारों बार ऐसा हुआ है की श्री कृष्ण ने अपने भक्तों की...

मौत भयानक नहीं है

याग्वल्क्य ऋषि का एक अलग दर्शन है मृत्यु के बारे में, उनका कहना है की जीवन से पहले भी मृत्यु है और जीवन के बाद भी मृत्यु है, तो मृत्यु ही स्रोत है और...

आसक्ति में अपमान है !

जी हाँ, यह तय बात है कि इस दुनिया में हम जिन जिन व्यक्तियों/वस्तुओं से जितना ज्यादा आसक्ति रखेंगे (ईश्वर को छोड़कर) उन उन व्यक्तियों/वस्तुओं से उतना ज्यादा दुःख (जो कि अपमान या किसी...

भक्ति संक्रामक है

16 पूर्ण कलाओं के साथ उस निराकार ब्रम्ह ने आकार लिया जिनका नाम था कृष्ण | ये श्री कृष्ण का अवतार तो स्थूल रूप से लगभग 5000 साल पहले हुआ था पर कृष्ण तो...

सबसे बड़ा वैरागी

श्रीमत् भागवत पुराण में भगवान दत्तात्रेय सर्प की निर्मोही पन से प्रभावित थे इसलिए वे सर्प की निर्मोहीपन, निरासक्ति और संग्रह न करने की इच्छा को अनुकरणीय मानते थे। क्योकि सर्प कभी भी अपने...

सभी बीमारियो को दूर करने का बहुत लाभप्रद तरीका

यहाँ पर कुछ तार्किक बात की जा रही है जो, कुछ बेहद अनुभवी वैद्यो और उच्च कोटि के संतो की दयामयी कृपा से सुनने को मिली है। यह जानकारी है ऐसे तरीको के बारे...

दुनिया की सबसे ताकतवर दवा जो करे हर रोग का नाश

यहाँ पर जिस दवा के बारे में बताया जा रहा है, उस दवा को रोज रोज पूर्ण विधि विधान से ग्रहण करने पर दुनिया के हर रोग में धीरे – धीरे निश्चित ही फायदा मिलता...

पारस पत्थर का रहस्य

एक दृष्टान्त है कि अति प्राचीन समय में एक बार पूरे सन्सार के बड़े बड़े विद्वानो, ऋषियों, महर्षियो की सभा हुई और इस बैठक का उद्देश्य था की ये जानना की इस संसार में...

तो क्या ये घर नकली था

श्रीमत् भागवत महापुराण का प्रसंग है की, भगवान दत्तात्रेय ने देखा की एक सुन्दर कपड़ो में सजी हुई एक कुवाँरी लड़की अपने घर से निकल कर कुछ लोगो के साथ एक दूसरे अनजान घर...