अपच, हैजा, पेट के कीड़ों आदि सभी कारणों से होने वाली उल्टी का इलाज

· November 1, 2015

12unnamedजब अन्ट शन्ट चीज पेट में डालेंगे तो उल्टी के रूप में बाहर आयेगा ही ! यह पेट की खराबी का ही एक रूप है ।

यहाँ गर्भवती स्त्रियों की उल्टियों की बात नहीं हो रही है, बल्कि बात हो रही है अपच, हैजा, पेट के कीड़े आदि सभी कारणों से होने वाली उल्टियों की !

जब कभी कोई अनावश्यक या हानिकारक पदार्थ पेट में अधिक मात्रा में जमा हो जाता है तो उसे निकालने के लिए पेट विरोध करता है जिससे पेट में एकत्रित पदार्थ उल्टी द्वारा बाहर निकल जाता है |

पर अधिक उल्टी होने से रोगी के शरीर में पानी की कमी होने के साथ साथ कमजोरी भी आ जाती है |

उपचार (herbal jadibuti of worms in stomach, indigestion problem home remedy, cholera ayurvedic medicines, Nausea and Vomiting aushadhiya Treatment)-

– होम्योपैथी में इपिकाकुनहा नाम की दवा, बहुत फायदेमंद दवा है उल्टी की ! इसकी 30 पॉवर की कुछ गोलियां हमेशा घर में रखना चाहिए और जब भी उल्टी महसूस हो 4 – 4 गोली 4 घंटे पर ले लेना चाहिए (homeopathic medicine Ipecacuanha 30 power) !

– पुदीने और नींबू का रस बराबर मात्रा में मिला लें | यह एक चम्मच की मात्रा में 3 – 4 बार रोगी को पिलाने से उल्टी का बार- बार आना बंद हो जाता है |

– 10 -10 मिली पुदीना, प्याज़ और नींबू का रस मिलाकर थोड़ी थोड़ी मात्रा में रोगी को पिलाने से हैजे में होने वाली उलटी में बहुत लाभ होता है |

– तुलसी के पत्तों का रस पीने से उल्टी भी बंद हो जाती है और पेट के कीड़े भी मर जाते हैं|

– शहद और तुलसी का रस मिलाकर चाटने से जी मिचलाना और उल्टी ठीक होती है|

– अगर उल्टी बंद न हो रही हो तो दो लौंग और थोड़ी सी दालचीनी लेकर एक कप पानी में डालकर उबाल लें और जब पानी आधा रह जाए तब छानकर रोगी को पिलायें| इससे उल्टी का बार बार आना बंद हो जाता है|

– उल्टी होने पर सूखा या हरा धनिया कूटकर पानी में डालकर फिर निचोड़कर 5 चम्मच रस निकाल लें | यह रस रोगी को पिलाने से उलटी आनी बंद हो जाती है |

– नींबू को काटकर इसमें चीनी और काली मिर्च भरकर चूंसने से उल्टी और जी मिचलाना बंद हो जाता है |

– पका हुआ केला खाने से खून की उल्टी बंद हो जाती है |

– 20 ग्राम सौंफ और दस पुदीने के पत्तों को एक लीटर पानी में उबालकर छान लें और ठंडा करके थोड़ी-थोड़ी देर में रोगी को पिलायें | इससे उल्टी में बहुत आराम होता है |

(आवश्यक सूचना – “स्वयं बनें गोपाल” संस्थान की इस वेबसाइट में प्रकाशित सभी जानकारियों का उद्देश्य, सत्य व लुप्त होते हुए ज्ञान के विभिन्न पहलुओं का जनकल्याण हेतु अधिक से अधिक आम जनमानस में प्रचार व प्रसार करना मात्र है ! अतः “स्वयं बनें गोपाल” संस्थान अपने सभी पाठकों से निवेदन करता है कि इस वेबसाइट में प्रकाशित किसी भी यौगिक, आयुर्वेदिक, एक्यूप्रेशर तथा अन्य किसी भी तरह के उपायों व जानकारियों को प्रयोग में लाने से पहले किसी योग्य चिकित्सक, योगाचार्य, एक्यूप्रेशर एक्सपर्ट तथा अन्य सम्बन्धित विषयों के एक्सपर्ट्स से परामर्श अवश्य ले लें क्योंकि हर मानव की शारीरिक सरंचना व परिस्थितियां अलग - अलग हो सकतीं हैं)





ये भी पढ़ें :-



[ajax_load_more preloaded="true" preloaded_amount="3" images_loaded="true"posts_per_page="3" pause="true" pause_override="true" max_pages="3"css_classes="infinite-scroll"]