डॉक्टर्स को दूर रखने वाले बेहद आसान घरेलु नुस्खे (भाग – 2)

sdsfdff– हरी सब्जियां, साग, शलजम, बीन्स, मटर, ओट्स, सनफ्लावर सीड्स, अलसी के बीज आदि खाएं। इनमें फॉलिक एसिड होता है, जो कॉलेस्ट्रॉल लेवल घटाता है।

 

– सरसों तेल, बीन्स, बादाम, अखरोट, फ्लैक्स सीड्स (अलसी के बीज) खाने चाहिए। इनमें काफी ओमेगा-थ्री होता है, जो दिल के लिए अच्छा है।

 

– मेथी, लहसुन, प्याज, हल्दी, सोयाबीन आदि खाएं। इनसे कॉलेस्ट्रॉल कम होता है।

 

– एचडीएल यानी गुड कॉलेस्ट्रॉल बढ़ाने के लिए रोजाना पांच-छह बादाम खाएं। अखरोट व पिस्ता भी फायदेमंद हैं।

 

– कॉलेस्ट्रॉल लिवर के डिस्ऑर्डर से बढ़ता है। लिवर साफ करने के लिए एलोवेरा जूस, आंवला जूस और वेजिटेबल जूस लें। इन्हें बराबर मात्रा में मिलाकर रोज एक गिलास और कॉलेस्ट्रॉल ज्यादा हो तो दो गिलास भी पी सकते हैं।

 

–  अगर घाव में सूजन हो , तो रेंड (एरण्ड) के पत्ते का तेल लगाकर गर्मकर बांध दें। सूजन खत्म हो जायेगी।

 

– शरीर में सूजन आ जाने पर अनानास का एक पूरा फल प्रतिदिन खाने से आठ दस दिनों में ही सूजन कम होने लगती है तथा पन्द्रह बीस दिनों में पूर्ण लाभ हो जाता है।

 

– अगर फोड़े को जल्दी पकाना हो तो अरहर की दाल, पानी के साथ पीसकर, थोड़ा नमक मिलाकर गर्म करके फोड़े पर बांध देना चाहिए। अगर फोड़ा निकला हो, तो एक भुने प्याज की तीन परत लें। उस पर पिसी हुई हल्दी रखकर गरम कर दें। गरम करके फोड़े पर रखकर उस पर पीपल का पत्ता लगाकर बांध दें। दिन में दो बार बांधे। फोड़ा या तो बैठ जाएगा या फूट जाएगा।

 

– नारियल की सूखी पुरानी गरी एक भाग और हल्दी चौथाई भाग दोनों को महीन कूटकर पोटली में बांध दें, तो राहत मिलती है। कच्ची गाजर का रस 5० ग्राम प्रतिदिन पीने से फोड़े फुन्सी आदि नहीं होते।

 

– पुदीने का अर्क मिलाकर नाक, कान तथा अन्य अंगों के घाव पर टपका देने से कीड़े नष्ट हो जाते हैं।

 

– 6 ग्राम पुदीना को पीस छानकर 1०० ग्राम चूने के पानी के साथ मिलाएं। कुछ दिनों तक इसका प्रयोग निरंन्तर करने से पिण्डलियों की रगों का फूलना कम हो जाता है।

 

– हरी मकोय के अर्क में अमलतास के गूदे को पीसकर सूजन वाली जगह पर लेप करने से सूजन कम हो जाती है।

 

– यदि आपकी त्वचा रूखी और बेजान दिखाई देती है तो ये नुस्खा अपनाएं, जौं का आटा, हल्दी, सरसों का तेल पानी में मिलाकर उबटन बनाए, इस उबटन का चेहरे पर लगाएं और कुछ समय बाद पानी से चेहरा धो लें, इस प्रकार नियमित रूप से करते रहे। आपका चेहरा चमकने लगेगा।

 

– यदि सर्दी, खांसी और बुखार से पीड़ित है तो नाक में २ बूंद सरसों का तेल डालें और दूध में हल्दी मिलाकर पिएं, इनसे शीघ्र आराम मिलता है।

 

– दूध की मलाई और बारीक पिसी हुई मिश्री को एक साथ मिलाए और इसका सेवन नियमित रूप से करें, ऐसा करने पर कमजोरी दूर होती है और शरीर बलवान होता है। चेहरे पर रौनक बनी रहती है।

 

– कमजोरी को दूर करने के लिए यह उपाय भी करें। सफेद मूसली या धोली मूसली का चूर्ण बनाए, यह चूर्ण एक चम्मच और एक चम्मच पिसी मिश्री मिलाए सुबह उठने के बाद और रात को सोने से पहले गुनगुने दूध के साथ पीएं, ऐसा करने पर कमजोरी दूर हो जाती है।

 

– नारियल के तेल में नींबू का रस मिलाकर बालों में लगाएं, इससे रूसी एवं खुश्की से छुटकारा मिलता है।

 

– रोज सुबह नींबू और शहद को गुनगुने पानी में डालकर पीएं इससे शरीर का अतिरिक्त फैट कम हो जाता है।

 

– आंवले का मुरब्बा का सेवन नियमित रूप से करते रहेंगे तो सभी प्रकार की कमजोरी दूर हो जायेगी।

 

– गैस की समस्या हो तो यह नुस्खा अपनाएं, अजवायन और जीरा समान मात्रा में एक साथ भून लें, इसके बाद इस मिश्रण को पानी में उबाल कर छान लें और छने हुये पानी में चीनी मिलाकर पिएं।
 

(नोट – हर मरीज की शारीरिक सरंचना व परिस्थितियां अलग अलग हो सकतीं हैं इसलिए इस वेबसाइट में दिए हुए किसी भी यौगिक, आयुर्वेदिक व प्राकृतिक उपायों को आजमाने से पहले किसी योग्य योगाचार्य, वैद्य व चिकित्सक से परामर्श अवश्य ले लें)

(आवश्यक सूचना – “स्वयं बनें गोपाल” संस्थान की इस वेबसाइट में प्रकाशित सभी जानकारियों का उद्देश्य, सत्य व लुप्त होते हुए ज्ञान के विभिन्न पहलुओं का जनकल्याण हेतु अधिक से अधिक आम जनमानस में प्रचार व प्रसार करना मात्र है ! अतः “स्वयं बनें गोपाल” संस्थान अपने सभी पाठकों से निवेदन करता है कि इस वेबसाइट में प्रकाशित किसी भी यौगिक, आयुर्वेदिक, एक्यूप्रेशर तथा अन्य किसी भी प्रकार के उपायों व जानकारियों को किसी भी प्रकार से प्रयोग में लाने से पहले किसी योग्य चिकित्सक, योगाचार्य, एक्यूप्रेशर एक्सपर्ट तथा अन्य सम्बन्धित विषयों के एक्सपर्ट्स से परामर्श अवश्य ले लें क्योंकि हर मानव की शारीरिक सरंचना व परिस्थितियां अलग - अलग हो सकतीं हैं)



You may also like...