जितनी बात की जाय इसकी प्यारी लीला की उतनी कम है

· January 11, 2016

jkjkhkलड्डू गोपाल का एक नाम नारद पुराण में “विलुन्ठन:” दिया है जिसका मतलब है अचानक से सामान उठा कर भाग जाने वाला, तो इसी से समझ लीजिये की अगर ये आपके साथ रहेगा तो आपको चिढ़ाने के लिए बार बार आपका सामान उठा कर भाग जायेगा और फिर आप दौड़ते रहिये इसके पीछे अपना सामान वापस पाने के लिए !

वास्तव में इसका मर्म यही है कि अपने भक्त की भक्ति की परीक्षा लेते लेते अचानक से ये दबें पाँव चुपके से भक्त के पास आता है और भक्त के अनेक जन्मों के अर्जित पापों को लेकर भाग जाता है ! और जब पाप ही नहीं रहते तो भक्त की जिंदगी में दुःख भी नहीं बचते !

इसकी इसी चोरी वाली आदत की वजह से श्रीमत भागवत महा पुराण में इसे चोर नहीं चोरों का सरदार कहा गया है !

ये इकलौता ऐसा चोर है जिससे चोरी करवाने के लिए लोग तरसते हैं क्योकि एक बार चोरी हो जाय तो जिन्दगी में सिर्फ आनंद ही आनन्द बचता हैं !!

(आवश्यक सूचना – “स्वयं बनें गोपाल” संस्थान की इस वेबसाइट में प्रकाशित सभी जानकारियों का उद्देश्य, सत्य व लुप्त होते हुए ज्ञान के विभिन्न पहलुओं का जनकल्याण हेतु अधिक से अधिक आम जनमानस में प्रचार व प्रसार करना मात्र है ! अतः “स्वयं बनें गोपाल” संस्थान अपने सभी पाठकों से निवेदन करता है कि इस वेबसाइट में प्रकाशित किसी भी यौगिक, आयुर्वेदिक, एक्यूप्रेशर तथा अन्य किसी भी प्रकार के उपायों व जानकारियों को किसी भी प्रकार से प्रयोग में लाने से पहले किसी योग्य चिकित्सक, योगाचार्य, एक्यूप्रेशर एक्सपर्ट तथा अन्य सम्बन्धित विषयों के एक्सपर्ट्स से परामर्श अवश्य ले लें क्योंकि हर मानव की शारीरिक सरंचना व परिस्थितियां अलग - अलग हो सकतीं हैं)





ये भी पढ़ें :-



[ajax_load_more preloaded="true" preloaded_amount="3" images_loaded="true"posts_per_page="3" pause="true" pause_override="true" max_pages="3"css_classes="infinite-scroll"]