मुंह, दांत और गले की कई बीमारियों के नाश के लिए

thin-lips-6यहाँ पर बार बार के सफलता पूर्वक आजमाया हुये नुस्खे के बारे में बताया जा रहा है जो शर्तिया कई तरह के मुंह, दाँतों और गले के रोगों में बहुत फायदा करता है (Ayurvedic treatment of Common Oral Infections, dental Oral Health Symptoms & Types, Mouth Throat and Neck problems & Medical Conditions) !

पायरिया हो, दांत हिल रहे हो, मसूढ़े कमजोर और बदसूरत हो गए हों, ठंडा गर्म दांतों को परेशान करता हो, मुह में घाव हो गया हो या गले का टांसिल या कोई अन्य रोग हो, इस दवा को खाने से 4 से 7 दिन में फायदा दिखने लगता है, जबकि कई बार तो लोगो को 1 ही दिन में थोड़ा थोडा फायदा दिखने लगता है ! मुंह के कठिन से कठिन छालों में तो ये सिर्फ 2 – 3 खुराकों में ही फायदा दिखाने लगती है !

तो अब आपके मन में भी उत्सुकता जाग रही होगी की भाई ऐसी कौन सी दवा है जिसको खाने के बाद हमें दांत के डॉक्टर के पास जाकर हजारों रूपए खर्च करने की जरूरत नहीं है !

तो ये है हमारे परम आदरणीय सनातन हिन्दू धर्म के आयुर्वेद विषय की “खदिरादि वटी” !

खादिरादि वटी में कई बेहद प्रभावी जड़ी बूटियों का समावेश है जिस वजह से इसे आज के ज़माने में खुद से तैयार करना एक बेहद कठिन काम है पर ये हम लोगो का सौभाग्य ही है की हम लोगो के बीच दिव्य अवतारी पुरुष श्री बाबा राम देव जी है जो खदिरादि वटी जैसी हजारों कठिन कठिन दवाओ को पूरी शुद्धता और पूरी सही वेदोक्त विधि से तैयार करते है और हमें सस्ते दामों में उपलब्ध भी कराते है, हालाँकि कई शैतानी खोपड़ियों को श्री बाबा रामदेव का यह परोपकार बिल्कुल भी गले नहीं उतर रहा है और वो रोज नए नए तरीके खोजते है श्री रामदेव को बदनाम करने के लिए, लेकिन श्री बाबा रामदेव एक प्रचण्ड देशभक्त है और ऐसी खुरापाती हरकतों से वे कभी नहीं घबराते (Baba ramdev patanjali product Khadiradi Vati Ayurvedic Medicine Uses Dose Ingredients) !

तो आप खदिरादि वटी को अपनी रोग की गंभीरता के हिसाब से खाइये मतलब इसको खाने की सामान्य मात्रा जो है वो वयस्कों के लिए 2-2 गोली सुबह शाम और बच्चों के आधी – आधी गोली सुबह शाम है पर अगर आपको तकलीफ बहुत ज्यादा हो तो 2-2 गोली सुबह, दोपहर, शाम ले सकते हैं ! दवा में परहेज बस इतना है की दवा के आधे घंटे आगे पीछे दूध और दूध से बने सामान को ना खाए पीये !

और हां मुंह के छालों, घाव आदि में दुनिया की कोई भी दवा कभी फायदा नहीं करेगी अगर आप गुटखा, सिगरेट, बहुत ज्यादा गर्म मसाला से बना खाना आदि लगातार खाते रहेंगे !

दुनिया का हर आदमी अपनी जिंदगी में कभी न कभी मुंह की बीमारी से परेशान होता है ऐसे में उसको इस दवा की जानकारी बहुत काम आयेगी इसलिए इस उपयोगी जानकारी को उन लोगो को जरुर बताये जिनकी आपको चिन्ता हो !

(आवश्यक सूचना – “स्वयं बनें गोपाल” संस्थान की इस वेबसाइट में प्रकाशित सभी जानकारियों का उद्देश्य, सत्य व लुप्त होते हुए ज्ञान के विभिन्न पहलुओं का जनकल्याण हेतु अधिक से अधिक आम जनमानस में प्रचार व प्रसार करना मात्र है ! अतः “स्वयं बनें गोपाल” संस्थान अपने सभी पाठकों से निवेदन करता है कि इस वेबसाइट में प्रकाशित किसी भी यौगिक, आयुर्वेदिक, एक्यूप्रेशर तथा अन्य किसी भी प्रकार के उपायों व जानकारियों को किसी भी प्रकार से प्रयोग में लाने से पहले किसी योग्य चिकित्सक, योगाचार्य, एक्यूप्रेशर एक्सपर्ट तथा अन्य सम्बन्धित विषयों के एक्सपर्ट्स से परामर्श अवश्य ले लें क्योंकि हर मानव की शारीरिक सरंचना व परिस्थितियां अलग - अलग हो सकतीं हैं)



You may also like...