Monthly Archive: August 2015

फाड़ कर खा जायेंगे कृष्ण तुम्हारी ओर गन्दी निगाह उठाने वालों को

किसी भी हद तक जा सकते है कृष्ण अपने भक्त की रक्षा करने के लिए ! इतिहास गवाह है की एक नहीं हजारों बार ऐसा हुआ है की श्री कृष्ण ने अपने भक्तों की...

मौत भयानक नहीं है

याग्वल्क्य ऋषि का एक अलग दर्शन है मृत्यु के बारे में, उनका कहना है की जीवन से पहले भी मृत्यु है और जीवन के बाद भी मृत्यु है, तो मृत्यु ही स्रोत है और...

हवा में उड़ना, हमेशा जवान रहना और सारे रोगों का नाश करने वाली रहस्यमयी मुद्राओं का खुलासा

आश्चर्यजनक सिद्धियां प्रदान करने वाली ये मुद्रायें हठयोग के अन्तर्गत वर्णित हैं। मुद्राओं का तत्काल और सूक्ष्म प्रभाव शरीर की आंतरिक ग्रन्थियों पर पड़ता है। इन मुद्राओं के माध्यम से शरीर के अवयवों तथा...

मुझे जान से मार क्यों नहीं देते

ये भीषण चीत्कार है उस भयंकर दर्द की जो दिल में उठता है उस भक्त के, जिसे सिर्फ एक सेकंड के लिए, त्रैलोक्य मोहन लड्डू गोपाल की झलक दिख जाती है, और फिर वो...

आसक्ति में अपमान है !

जी हाँ, यह तय बात है कि इस दुनिया में हम जिन जिन व्यक्तियों/वस्तुओं से जितना ज्यादा आसक्ति रखेंगे (ईश्वर को छोड़कर) उन उन व्यक्तियों/वस्तुओं से उतना ज्यादा दुःख (जो कि अपमान या किसी...

दुनिया का सबसे बड़ा आश्चर्य – सिर्फ इस आवाज को सुनने से, 1 सेकेंड से भी कम समय में शरीर की सारी बिमारियां जल कर भस्म हो जाती हैं !

मानव शरीर की बहुत सी रहस्यमय बातों और गुप्त शक्तियों का विस्तृत वर्णन किया गया है हमारे परम आदरणीय हिन्दू धर्म के ग्रंथों में ! वास्तव में हमारा शरीर आश्चर्यों का खजाना है और एक...

कितने गुप्त तरीके से छुपा कर रखा गया है दुनिया की सबसे ताकत वर शक्ति को

अगर आप से कोई कहे की दुनिया की सबसे ताकत वर शक्ति आपके पास ही है बस आपको उसे इस्तेमाल करना नहीं आता और अगर कोई आपको उसे इस्तेमाल करना बता भी दे तो...

पूरी पृथ्वी को भी नाग भगवान ने ही उठा रखा है अपने सिर पर

नागराज वासुकी प्रसन्न होकर अभय प्रदान करते हैं उनको, जो श्रावण पंचमी के दिन नागों की पूजा करते है । नाग पंचमी हिन्दुओं का एक प्रमुख त्योहार है। हिन्दू पंचांग के अनुसार सावन माह...

मौत के नाम से जीव काँप जायेगा अगर तन्मात्राओं में मोह हो

थोडा सा आप समय दीजिये अपने शरीर की चालाकियों और लालच को समझने में क्योकि अगर आप एक बार समझ गए की मन में उठने वाली इच्छा के पीछे क्या – क्या राजनीति हो...

आप कैसे दिखतें हैं और क्या सोचतें हैं, ये भी बता सकता है आयुर्वेद

आयुर्वेद में हर छोटी सी छोटी चीज का बहुत विस्तृत वर्णन है जिसे समझना सबकी बस की बात नहीं है क्योंकि एक तो ये क्लिष्ट देवभाषा संस्कृत के गूढ़ सूत्रों में लिखी है ऊपर...

सौगन्ध महादेव की, खुरापात करने लायक नहीं छोड़ेंगे

ये महावीरता का जज्बा है हर एक – एक हिन्दुस्तानी का जो ऊपर से तो शान्त दीखता है यहाँ तक की अपने रोज मर्रा के काम में उलझा, परेशान और दुखी भी दिखता है...

भक्ति संक्रामक है

16 पूर्ण कलाओं के साथ उस निराकार ब्रम्ह ने आकार लिया जिनका नाम था कृष्ण | ये श्री कृष्ण का अवतार तो स्थूल रूप से लगभग 5000 साल पहले हुआ था पर कृष्ण तो...

सिर्फ ये एक काम करने से आँखों के कई रोगों के नाश होता है

हमारे योग शास्त्र के हठ योग साधना पद्धति में एक क्रिया होती है जिसका नाम है त्राटक ! इस त्राटक को आँखों के सभी रोगों और विकृतियों को नष्ट करने वाला बताया गया है...

सबसे बड़ा वैरागी

श्रीमत् भागवत पुराण में भगवान दत्तात्रेय सर्प की निर्मोही पन से प्रभावित थे इसलिए वे सर्प की निर्मोहीपन, निरासक्ति और संग्रह न करने की इच्छा को अनुकरणीय मानते थे। क्योकि सर्प कभी भी अपने...

मुंह, दांत और गले की कई बीमारियों के नाश के लिए

यहाँ पर बार बार के सफलता पूर्वक आजमाया हुये नुस्खे के बारे में बताया जा रहा है जो शर्तिया कई तरह के मुंह, दाँतों और गले के रोगों में बहुत फायदा करता है (Ayurvedic...

शरण में जाओ, जिंदगी भर पेट भरने की गारंटी

पूरी दुनिया में जहा भी जिसका भी पेट भर रहा है, वो सिर्फ और सिर्फ श्री भगवान नारायण की कृपा से ही हो रहा है | इन्ही को भगवान विष्णु, नरसिंह और पद्मनाभ कहते है...