सावधान ! किसी को हर्ट अटैक पड़ रहा हो तो तुरन्त उसके कान दबाईये

अब घर बैठे हुए ही अपनी कठिन शारीरिक, मानसिक, आर्थिक समस्याओं के लिए तुरंत पाईये ऑनलाइन/टेलीफोनिक समाधान विश्वप्रसिद्ध “स्वयं बनें गोपाल” समूह के बेहद अनुभवी एक्सपर्ट्स द्वारा, इसी लिंक पर क्लिक करके



ear-emotional-chartअगर आपके सामने कोई ऐसा व्यक्ति हो जिसे ब्लोकेज की वजह से हर्ट अटैक (acupressure points for Heart attack)पड़ने की शुरुआत हो रही हो तो तुरन्त आप उसके कान की लर (कान के नीचे का बिना हड्डी का हिस्सा, जहाँ भारतीय महिलाएं कान में छेद करवाकर बाली पहनती हैं) को दबाना शुरू कर दीजिये, ऐसा करने से उस व्यक्ति को रिलीफ मिलना शुरू हो सकता है, और साथ ही साथ यथा शीघ्र उस व्यक्ति को पास के हॉस्पिटल के इमरजेंसी वार्ड में पहुचाइए |

वास्तव में भारत में हर्ट सम्बन्धी (Heart diseases, cardiac arrest) बिमारियों के बारे में बहुत से लोगो को बहुत ही कम जानकारी होती है इसलिए कम से कम कुछ प्राथमिक जानकारियां होती है जो हर आदमी को पता होनी ही चाहिए |

कान की लर में हर्ट को काफी फायदा पहुचाने वाला एक्यूप्रेशर पॉइंट होता है पर इस पॉइंट को दबाने का फायदा तभी तक मिल सकता है जब तक हर्ट अटैक पड़ा ना हो, बल्कि उसकी शुरुआत हो |

अगर रोज रोज आदमी पूरे शरीर की विधिवत मालिश शुद्ध सरसों के तेल से करे और मालिश करते समय कान के भी इस पॉइंट को दबाये तो ह्रदय रोगों से काफी हद तक बचा जा सकता है |

कृपया हमारे फेसबुक पेज से जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें

कृपया हमारे यूट्यूब चैनल से जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें

कृपया हमारे ट्विटर पेज से जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें

कृपया हमारे ऐप (App) को इंस्टाल करने के लिए यहाँ क्लिक करें


डिस्क्लेमर (अस्वीकरण से संबन्धित आवश्यक सूचना)- विभिन्न स्रोतों व अनुभवों से प्राप्त यथासम्भव सही व उपयोगी जानकारियों के आधार पर लिखे गए विभिन्न लेखकों/एक्सपर्ट्स के निजी विचार ही “स्वयं बनें गोपाल” संस्थान की इस वेबसाइट पर विभिन्न लेखों/कहानियों/कविताओं आदि के तौर पर प्रकाशित हैं, लेकिन “स्वयं बनें गोपाल” संस्थान और इससे जुड़े हुए कोई भी लेखक/एक्सपर्ट, इस वेबसाइट के द्वारा और किसी भी अन्य माध्यम के द्वारा, दी गयी किसी भी जानकारी की सत्यता, प्रमाणिकता व उपयोगिता का किसी भी प्रकार से दावा, पुष्टि व समर्थन नहीं करतें हैं, इसलिए कृपया इन जानकारियों को किसी भी तरह से प्रयोग में लाने से पहले, प्रत्यक्ष रूप से मिलकर, उन सम्बन्धित जानकारियों के दूसरे एक्सपर्ट्स से भी परामर्श अवश्य ले लें, क्योंकि हर मानव की शारीरिक सरंचना व परिस्थितियां अलग - अलग हो सकतीं हैं ! अतः किसी को भी, “स्वयं बनें गोपाल” संस्थान की इस वेबसाइट के द्वारा और इससे जुड़े हुए किसी भी लेखक/एक्सपर्ट द्वारा, किसी भी माध्यम से प्राप्त हुई, किसी भी प्रकार की जानकारी को प्रयोग में लाने से हुई, किसी भी तरह की हानि व समस्या के लिए “स्वयं बनें गोपाल” संस्थान और इससे जुड़े हुए कोई भी लेखक/एक्सपर्ट जिम्मेदार नहीं होंगे !