जड़ी बूटियों की मालिश से कमर दर्द का प्रभावी इलाज

113CGpeXTYW93xk4fhZH73I4XXXL4j3HpexhjNOf_P3YmryPKwJ94QGRtDb3Sbc6KYआजकल का एक तो अति प्रदूषित पर्यावरण ऊपर से अस्त व्यस्त उट पटांग जीवन शैली तो आदमी को एक नहीं हजार समस्याएं होनी ही है ! इन्ही समस्याओं में से एक है कमर दर्द , जो सुनने में तो मामूली लगता है पर आदमी को किसी काम के लायक नहीं छोड़ता है !

कमर दर्द से परेशान आदमी चिडचिडा हो जाता है क्योंकि वो जैसे कुछ काम करना शुरू करता है वैसे ही उसको कमर दर्द होना शुरू हो जाता है !

यह अधिकतर उन लोगों में होता है जो अधिक समय तक खड़े होकर, बैठकर, गलत तरीके से बैठकर और लेटकर कार्य करते हैं | अधिक मुलायम गद्दे पर बैठने और सोने से भी कमर दर्द हो जाता है ! कई बार किसी कारण से कमर की मांसपेशियों में खिंचाव उत्पन्न हो जाता है जिसकी वजह से कमर में दर्द होता है |

कमर दर्द के और भी कारण हो सकते हैं जैसे ठण्ड लगने से, पेट की गैस के कुपित होने से अथवा अन्य किसी रोग की वजह से !

उपचार –

– आधा लीटर सरसों के तेल में 125 ग्राम लहसुन को कूट कर डालें | फिर उसे लहसुन के जलने तक धीमी आँच पर गर्म करें और ठंडा होने पर छान कर शीशी में भर लें | इस तेल की मालिश से कमर दर्द मिट जाता है |

– सौंठ के चूर्ण को अलसी (तीसी) के तेल में पका लें | इस तेल से कमर की मालिश करने से कमर दर्द में लाभ होता है |

– अजवायन को एक पोटली में बाँध लें | फिर इस पोटली को तवे पर गर्म करें तथा इससे कमर की सिकाई करें तो लाभ होगा |

– ठण्ड के कारण उत्पन्न हुए कमर दर्द में, लगभग 5 ग्राम सौंफ, 10 ग्राम तेजपात और 10 ग्राम अजवायन को एक लीटर पानी में उबालें | जब 100 ग्राम पानी शेष रह जाए तब इसे ठंडा करके पी लें |

– अरण्ड के पत्ते पर एक तरफ सरसों का तेल लगाकर तवे पर हल्का सा सेंक लें | फिर इसे तेल की तरफ से कमर पर बाँध लें | यह प्रयोग रात्रि में सोते समय करना चाहिए | सुबह तक कमर दर्द में बहुत आराम मिलता है |

facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail


ये भी पढ़ें :-