मूंगफली किस मामले में किसी मेवा से कम है

lसर्दी के मौसम में रोड के किनारे मूंगफली के स्टाल हर जगह देखने को मिल जाते हैं ! मूंगफली को सामान्यतया टाइम पास के रूप में रिफ्रेशमेंट की चीज समझी जाती है जबकि ऐसा है नहीं क्योंकि भगवान् की बनायीं हुई हर चीज की तरह मूंगफली के भी कई पौष्टिक फायदे हैं !

मूंगफली को गरीबों का मेवा कहा जाता है क्योंकि इतने सस्ते में मेवा जैसे फायदा कोई दूसरी चीज नहीं देती है !

मूंगफली प्रोटीन का एक सस्ता स्रोत हैं। इसमें प्रोटीन की मात्रा मांस की तुलना में 1.3 गुना, अण्डो से 2.5 गुना एवं फलों से 8 गुना अधिक होती हैं।

100 ग्राम कच्ची मूंगफली में 1 लीटर दूध के बराबर प्रोटीन होता है। मूँगफली में प्रोटीन की मात्रा 25 प्रतिशत से भी अधिक होती है। साथ ही मूंगफली पाचन शक्ति बढ़ाने में भी कारगर है।

250 ग्राम भूनी मूंगफली में जितनी मात्रा में खनिज और विटामिन पाए जाते हैं, वो 250 ग्राम मांस से भी प्राप्त नहीं हो सकता है।

आइये जानते हैं मूंगफली के लाभ-

– मूंगफली में न्यूट्रिएंट्स, मिनरल, एंटी-ऑक्सीडेंट और विटामिन्स जैसे पदार्थ पाए जाते हैं, जो कि स्वास्थ्य के लिये बहुत ही लाभप्रद साबित होते हैं ।

– इसमें ऐसे फैटी एसिड पाए जाते हैं जो कि एलडीएल या खराब कोलस्ट्रॉल को कम कर के अच्छे कोलेस्ट्रॉल को बढाते हैं।

– मूंगफली में प्रोटीन, चिकनाई और शर्करा पाई जाती है। एक अंडे के मूल्य के बराबर मूंगफलियों में जितनी प्रोटीन व ऊष्मा होती है, उतनी दूध व अंडे से संयुक्त रूप में भी नहीं होती।

– इसकी प्रोटीन दूध से मिलती-जुलती है, चिकनाई घी से मिलती है। मूँगफली के खाने से दूध, बादाम और घी की पूर्ति हो जाती है।

– एक स्टडी के मुताबिक, जिन लोगों के रक्त में ट्राइग्लाइसेराइड का लेवल अधिक होता है, वे अगर मूंगफली खाएं, तो उनके ब्लड के लिपिड लेवल में ट्राइग्लाइसेराइड का लेवल 10.2 फीसदी कम हो जाता है।

– अगर आप सर्दी के मौसम में मूंगफली खाएंगे तो आपका शरीर गर्म रहेगा। यह खाँसी में उपयोगी है व फेफड़े को बल देती है।

– भोजन के बाद यदि 50 या 100 ग्राम मूंगफली प्रतिदिन खाई जाए तो सेहत बनती है, भोजन पचता है, शरीर में खून की कमी पूरी होती है और मोटापा बढ़ता है।

– इसे भोजन के साथ सब्जी, खीर, खिचड़ी आदि में डालकर खा सकते हैं। मूंगफली में तेल का अंश होने से यह वायु की बीमारियों को भी नष्ट करती है।

– मुट्ठी भर भूनी मूंगफलियां निश्चय ही पोषक तत्वों की दृष्टि से लाभकारी हैं। मूंगफली में प्रोटीन, केलोरिज और विटामिन के, इ, तथा बी होते हैं, ये अच्छा पोषण प्रदान करते हैं।

– मूंगफली पाचन शक्ति को बढ़ाती है, रुचिकर होती है, लेकिन गरम प्रकृति के व्यक्तियों को हानिकारक भी है। मूंगफली ज्यादा खाने से पित्त बढ़ता है अतः ज्यादा ना खाएं !

facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail
loading...


ये भी पढ़ें :-