भूख बढाइये, दुबलापन भगाइए

गलत खानपान और अनियमित दिनचर्या के वजह से यदि पेट की अग्नि किसी कारण से मंद पड़ जाये तो appetite (भूख) लगनी बंद हो जाती है जिससे आदमी leanness or thinness (दुबलेपन) का शिकार हो सकता है। प्रस्तुत है पेट की अग्नि को पुनः प्रज्वल्लित कर भूख बढ़ाने के आयुर्वेदिक तरीके –

– काला नमक चाटने से gas (गैस) खारिज होती है और भूख बढती है। यह नमक पेट को भी साफ़ करता है।

– सेंधा नमक, बहुत थोड़ी सी हींग अजवायन और त्रिफ़ला का समभाग लेकर कूट पीस कर चूर्ण बना लें, इस चूर्ण के बराबर पुराना गुड लेकर सारे चूर्ण के अन्दर मिला दें और छोटी छोटी गोलियां बना लें, रोजाना ताजे पानी से एक या दो गोली लेना चालू कर दे। यह गोलियां खाना खाने के बाद ली जाती है, इससे खाना पचेगा भी और भूख भी बढेगी।

– हरड को निबोलियों के साथ लेने से भूख बढती है, और शरीर के चर्म रोगों का भी नाश होता है।

– छाछ के रोजाना लेने से मंदाग्नि खत्म हो जाती है।

– गेंहूं के चोकर में सेंधा नमक और अजवायन मिलाकर रोटी बनवायी जाये, इससे भूख बहुत बढती है।

– पके टमाटर की फ़ांके चूंसते रहने से भूख खुल जाती है।

– दो छुहारों का गूदा निकाल कर तीन सौ ग्राम दूध में पका लें, छुहारों का सत निकलने पर दूध को पी लें, इससे खाना भी पचता है और भूख भी लगती है।

– भोजन के आधा घंटा पूर्व चुकन्दर गाजर टमाटर पत्ता गोभी पालक तथा अन्य हरी साग सब्जियां व फ़लीदार सब्जियों के मिश्रण का रस पीने से भूख बढती है।

– अजवायन चालीस ग्राम सेंधा नमक दस ग्राम दोनो को कूट पीस कर एक साफ़ बोतल में रखलें, इसमे दो ग्राम चूर्ण रोजाना सवेरे फ़ांक कर ऊपर से पानी पीलें। इससे भूख भी बढेगी और वात वाली बीमारियां भी समाप्त होंगी।

– एक पाव सौंफ़ पानी में भिगो दें फ़िर इस पानी में चौगुनी मिश्री मिलाकर पका लें, इस शरबत को चाटने से भूख बढती है।

– लीची को भोजन से पहले लेने से पाचन शक्ति और भूख में बढोत्तरी होती है।

– अनार भी क्षुधा वर्धक होता है,इसका सेवन करने से भूख बढती है।

– नीबू का रस रोजाना पानी में मिलाकर पीने से भूख बढती है।

– आधा गिलास अनन्नास का रस भोजन से पहले पीने से भूख बढती है।

– तरबूज के बीज की गिरी खाने से भूख बढती है।

– बेल का फ़ल या जूस भी भूख बढाने वाला होता है।

 

(नोट – किसी भी नुस्खे को आजमाने से पहले वैदकीय परामर्श लेना उचित होता है)

facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail


ये भी पढ़ें :-