जरा प्यार से हैंडल करना, बहुत जल्दी रोने लगता है

10516629_329813010515491_5874215776336709467_nजी हाँ इसका ये मनमोहक स्वभाव खुद कई, बड़े बड़े ऋषियों ने देखा और आश्चर्य चकित होकर इसके कई अदभुत नाम रखे ! श्री राधा कृष्ण के युगल सहस्त्र नामों में एक नाम है “कम्पी” जिसका अर्थ होता है माँ के हाथ में पीटने के लिए उठा हुआ डंडा देखकर थर थर कांपने वाला !

कोई भी छोटा मासूम बच्चा हो तो वो माँ के हाथ में छड़ी देखकर डरेगा ही, पर मौत जिसको देखकर खुद ही डर से थर थर कांपती हो, ऐसे महा प्रलय स्वरुप परम ब्रह्म जब छोटे बालक के रूप में, माँ की मामूली छड़ी से कांपने लगते हैं और अपनी बड़ी बड़ी आँखों से काजल घुला हुआ मोटी मोटी आंसू की बूँद गिराते हैं तो भगवान शिव भी सम्मोहित हो जाते हैं !

वहीँ दूसरा इसका नाम है “पलायित:” जिसका मतलब है की ये दिन भर इतनी ज्यादा शरारत करता है की माँ की मार से बचने के किये रोज शाम को घर से भाग कर बाहर कहीं छुप जाता था फिर नन्द बाबा आते थे और समझा बुझा कर वापस घर ले जाते थे की चलो माँ नहीं डाटेगी !

वास्तव में इसकी हर लीला इतनी ज्यादा लुभावनी है की केवल उनका दर्शन करना ही कई तपस्वियों की जिंदगी भर की मेहनत का उद्देश्य होता है !

परम सत्ता के इन नामों में उतनी ही ताकत है जितनी राधा, गोपाल, कृष्ण आदि नामों में ! इन अति प्यारे नामों के भी चरित्र का कीर्तन करने से भोग और मोक्ष प्राप्त होता है !

facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail


ये भी पढ़ें :-